ब्लैकमेल

रमेश एक बिज़नेस ट्रिप के लिए बाहर जा रहा होता है. परन्तु वह कोई चीज भूल जाता है जो उसे अपने बिज़नेस ट्रिप पे साथ ले जाना होता है. और उसे देने के लिए वेलम्मा हड़बड़ी में शावर से निकलकर सिर्फ तौलिये में घर से बाहर आ जाती है. अचानक से उसका तौलिया खुल जाता है और दुर्भाग्यवश घर का दरवाजा भी आटोमेटिक लॉक हो जाता है. किसी तरह अपने ठरकी पड़ोसी समीर की मदद से वेलम्मा घर के अंदर आ पाती है. लेकिन इसके बाद एक काले नकाबपोश आदमी द्वारा वेलम्मा को ब्लैकमेल किया जाता है, जिसके पास वेलम्मा की नंगी तस्वीरें हैं.

रमेश एक बिज़नेस ट्रिप के लिए बाहर जा रहा होता है. परन्तु वह कोई चीज भूल जाता है जो उसे अपने बिज़नेस ट्रिप पे साथ ले जाना होता है. और उसे देने के लिए वेलम्मा हड़बड़ी में शावर से निकलकर सिर्फ तौलिये में घर से बाहर आ जाती है. अचानक से उसका तौलिया खुल जाता है और दुर्भाग्यवश घर का दरवाजा भी आटोमेटिक लॉक हो जाता है. किसी तरह अपने ठरकी पड़ोसी समीर की मदद से वेलम्मा घर के अंदर आ पाती है. लेकिन इसके बाद एक काले नकाबपोश आदमी द्वारा वेलम्मा को ब्लैकमेल किया जाता है, जिसके पास वेलम्मा की नंगी तस्वीरें हैं.