महिलाओं की समस्याएं

कड़ी अनुवादक: शी

वोकेशनल सेंटर में काम करते-करते वेलम्मा को समझ आया कि सभी ट्रेड बराबर नहीं हैं, इसलिए एपिसोड 86 में वेलम्मा ने अपना वोकेशनल ट्रेनिंग प्रोग्राम वेल्डिंग की बजाय वर्ड प्रोसेसिंग कर लिया है। क्लास के नारीवादी प्रशिक्षक से प्रेरित होकर, वेलम्मा ने प्रोफेसर अनुष्का रेड्डी के ऑफिस में जाने का फैसला किया ताकि पता कर सके कि क्या उनके पास अपने होशियार शिष्य के लिए कोई कैरियर सलाह है। वेलम्मा को जो मिलता है वो न केवल लैंगिक समानता का एक भड़कता उदाहरण है बल्कि महिला के साथ महिला के सेक्स रिलेशन्स का एक पाठ भी है जो अंत में समान अधिकार सेमिनार से हटकर दोनों सेक्सों को शामिल कर मस्ती भरे सेक्स पर ख़त्म होती है !

कड़ी अनुवादक: शी

वोकेशनल सेंटर में काम करते-करते वेलम्मा को समझ आया कि सभी ट्रेड बराबर नहीं हैं, इसलिए एपिसोड 86 में वेलम्मा ने अपना वोकेशनल ट्रेनिंग प्रोग्राम वेल्डिंग की बजाय वर्ड प्रोसेसिंग कर लिया है। क्लास के नारीवादी प्रशिक्षक से प्रेरित होकर, वेलम्मा ने प्रोफेसर अनुष्का रेड्डी के ऑफिस में जाने का फैसला किया ताकि पता कर सके कि क्या उनके पास अपने होशियार शिष्य के लिए कोई कैरियर सलाह है। वेलम्मा को जो मिलता है वो न केवल लैंगिक समानता का एक भड़कता उदाहरण है बल्कि महिला के साथ महिला के सेक्स रिलेशन्स का एक पाठ भी है जो अंत में समान अधिकार सेमिनार से हटकर दोनों सेक्सों को शामिल कर मस्ती भरे सेक्स पर ख़त्म होती है !