झगड़े कि सुलह

अनुवादक: एली

एपिसोड 89 से 94 में रमेश और उसकी थेरेपिस्ट डॉ. एनी जोंस के बीच में जो कुछ भी हुआ, उसे देखते हुए एनी ने फ़ैसला किया है कि अब समय आ गया जब रमेश उसे छोड़ कर सिर्फ और सिर्फ अपनी पत्नी वेलम्मा पर ध्यान दे और अपने झगड़े को अब खत्म करे. अपनी योजना के तहत वो दोनों को झूठ बोल कर एक ही समय पर अपने ऑफिस बुला लेती है, एक गहन परामर्श के लिए. माना कि एनी के इलाज का तरीका थोड़ा…अलग है, पर उसका मिशन पूरा होता है और मी. और मिसस लक्ष्मी फिर से अपना खोया हुआ प्यार वापस पाने में सफल होते है. इस नए उत्साह में डूबे हुए दोनों बहुत उत्साहित हैं अपनी आने वाली वेडिंग एनीवर्सरी के लिए और दोनों साथ में निकल पड़ते हैं एक दूसरे के लिए गिफ्ट्स लेने के लिए. पर सबसे “बड़ा” मोल भाव तो वेलम्मा के हाथ आता है!!

अनुवादक: एली

एपिसोड 89 से 94 में रमेश और उसकी थेरेपिस्ट डॉ. एनी जोंस के बीच में जो कुछ भी हुआ, उसे देखते हुए एनी ने फ़ैसला किया है कि अब समय आ गया जब रमेश उसे छोड़ कर सिर्फ और सिर्फ अपनी पत्नी वेलम्मा पर ध्यान दे और अपने झगड़े को अब खत्म करे. अपनी योजना के तहत वो दोनों को झूठ बोल कर एक ही समय पर अपने ऑफिस बुला लेती है, एक गहन परामर्श के लिए. माना कि एनी के इलाज का तरीका थोड़ा…अलग है, पर उसका मिशन पूरा होता है और मी. और मिसस लक्ष्मी फिर से अपना खोया हुआ प्यार वापस पाने में सफल होते है. इस नए उत्साह में डूबे हुए दोनों बहुत उत्साहित हैं अपनी आने वाली वेडिंग एनीवर्सरी के लिए और दोनों साथ में निकल पड़ते हैं एक दूसरे के लिए गिफ्ट्स लेने के लिए. पर सबसे “बड़ा” मोल भाव तो वेलम्मा के हाथ आता है!!